Wednesday, March 23, 2011

वादा किया---:D

वादा किया है न अकेला छोरेंगे तुम्हे
हम्हारी यादों मैं भी बसायेंगे तुम्हे

नज़दीक पाओगे मुझे हर एक लम्हे मैं
महसूस करोगे आज इन् साँसों की खुशबु तुम

हर किरण मैं नज़र आएगा चेहरा मेरा
भरलो आज इस चाँद को बाँहों मैं तुम

बनके चांदनी आई हूँ मैं आज तेरे घर
कार्लो आज प्यार इस चाँद की चांदनी से तुम

न रहने देंगे एक पल अकेला कभी तुम्हे
वादा किया है हर पल साथ रहेंगे हम !

12 comments:

Khare A said...

sundar nazm

VIJUY RONJAN said...

Bahut Khoob,Manpreet.
You express so very well...gud one.Please continue to express and write.

जाट देवता (संदीप पवांर) said...

जाट देवता की राम राम,
हर वक्त लिखने की धुन सवार रहती है क्या , वैसे अच्छा लिखा है ।
आप अपने ब्लोग पर दुसरों को बुलाती हो, मैं आपको अपने ब्लोग पर बुला रहा हूं ।

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

न रहने देंगे एक पल अकेला कभी तुम्हे
वादा किया है हर पल साथ रहेंगे हम !

बनी रहे यह साथ और वादों की मिठास .....

bilaspur property market said...

क्या बात है
बहुत सुन्दर ...आन्दित.... अनुपम ..कल्पनाओ से भरा
.......मीठी मीठी मुस्कानों के साथ

manish jaiswal
Bilaspur
chhattisgarh

ज्योति सिंह said...

preet ki reet bhi nirali hai ,
न रहने देंगे एक पल अकेला कभी तुम्हे
वादा किया है हर पल साथ रहेंगे हम !
sundar .

amrendra "amar" said...

bhavo se purn sunder rachna ke liye badhai sweekar karein

Rakesh Kumar said...

शानदार भाव, साथ निभाने के सुन्दर अहसास के साथ.
आपकी खूबसूरत अभिव्यक्ति मन को आनंदित करती है.

Arvind Mishra said...

दैया रे ....कितना रोमाटिक !सच्ची ! दुबारा पढने की हिम्मत नहीं है -दीवानों की बातें बार बार पढी नहीं बस समझ ली जाती हैं इशारों में ही :)

अभिषेक said...

nice...:)

Amrita Tanmay said...

Uf.........aah.........vaah.......

खबरों की दुनियाँ said...

बहुत खूब !!!

Post a Comment