Wednesday, March 30, 2011

तुम्हारी आँखें

ख्वाब यह कैसा दिखाती हैं तुम्हारी आँखें ,
मुझको दीवाना बनाती हैं तुम्हारी आँखें ...

कोई वादा कोई सचाई है इन आँखों में ,
मुझसे क्या-क्या कराती हैं तुम्हारी आँखें ...

तुम हो क्या मेरे लिए तुमको कुछ खबर भी नहीं ,
राह जीने की दिखाती हैं तुम्हारी आँखें ...

में हूँ तनहा और जीने का एहसास हो तुम ,
लुत्फ़ जीने का बताती हैं तुम्हारी आँखें ...

मेरी ख्वाहिश मेरा सरमाया-इ-हयात हो तुम ,
दूर रह कर मुझे तडपाती हैं तुम्हारी आँखें !

जब जब मुझको एक तक निहारती है आँखें...
उफ़ क्या कहूँ क्या-क्या गजब ढाती है तुम्हारी आँखें

मैं हूँ तन्हा ,और जीने का एहसास हो तुम
जीने का एहसास ,कराती हैं तुम्हारी आँखें |

19 comments:

Hema Nimbekar said...

awesome...
want to add lines

जब जब मुझको एक तक निहारती है आँखें...
उफ़ क्या कहूँ क्या-क्या गजब ढाती है तुम्हारी आँखें

यादें said...

बधाई ! मनप्रीत , दिल से एहसास कराती आँखे !

तेरी इजाजत से :- अगर बुरा न माने तो !

मैं हूँ तन्हा ,और जीने का एहसास हो तुम
जीने का एहसास ,कराती हैं तुम्हारी आँखें |

आशीर्वाद !

Manpreet Kaur said...

@ WAH WAH BAHUT ACCHA HEMA JI

Manpreet Kaur said...

@ ashok ji Thanx...

UDIT said...

good job
keep it up
maja aa gya..
tussi great ho

Amrita Tanmay said...

vakai! behad khubsurat......badhai

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " said...

वाह ......वाह.......वाह !

गज़ब की ग़ज़ल .....हर शेर लाजवाब

Manpreet Kaur said...

@ Thanx Udit And Amrita ji

Manpreet Kaur said...

@धनेवाद ! झंझट जी!

smshindi By Sonu said...

हाय!
क्या हो रहा है मैं अपना पुराना बलोग बदल गया है?
आप नीचे मेरी नई टिप्पणी है

और Plz मुझे एक नई टिप्पणी दे आपकी याद आती है.

मेरा नया बलोग है ... ..
.
.
.
.
.
.http://smshindi-smshindi.blogspot.कॉम

"आगे "

दम हैं नई टिप्पणी दे


मिस करने के लिए...............

आलोक मोहन said...

bahut hi badiya geet

sushma 'आहुति' said...

तुम हो क्या मेरे लिए तुमको कुछ खबर भी नहीं ,
राह जीने की दिखाती हैं तुम्हारी आँखें ...
bhut khubsurat lines....

Sunil Kumar said...

में हूँ तनहा और जीने का एहसास हो तुम ,
लुत्फ़ जीने का बताती हैं तुम्हारी आँखें ...
.आँखों कि महिमा ही निराली है, खुबसूरत शेर मुबारक हो.....

Manpreet Kaur said...

sukriyaa aap sab ke sath ka

Poorviya said...

bahut sunder...

jai baba banaras...

mukes agrawal said...

सच में बहुत ही सुनहरे अल्फाज है ..
एक दम सुनहरे

akhtar khan akela said...

bahn ji itni tippniyaa itnaa pyaar ke mere liyen to khne ko kuchh bchaa hi nhin sivaa iske ke bas aap likhte rahe or hm pdhte rhen or bloging ki duniyaa yun hi aam ho jaaye mubark ho bhtrin rchnaayen chl rhi he . akhtar khan akela kota rajsthan

Dilbag Virk said...

तुम हो क्या मेरे लिए तुमको कुछ खबर भी नहीं ,
राह जीने की दिखाती हैं तुम्हारी आँखें ...
shaandar gazal
gazal-D.S.Virk

दीनदयाल शर्मा said...

ख्वाब यह कैसा दिखाती हैं तुम्हारी आँखें ,
मुझको दीवाना बनाती हैं तुम्हारी आँखें ...

bahut hi badhiya gazal...Congrats...

Post a Comment