Thursday, March 17, 2011

संगदिल सनाम ने मुझे तड़पाइया

कैसे बयां करू तेरी आँखों ने कैसे दिल को लुभाया
प्यार भरी तेरी नजरूं ने आज मुझे बोहोत तद्पाया

जबसे तुम्हे देखा मेरे यकीन को होगया यकीन
आँखों ने तेरी यूँ मेरे दिल की धरकनो को बढाया

तेरी आँखों की शरारत से हुई मेरी साँसे तेज़ और
जैसे तान बदन मैं हो तूने कोई जादू चलाया

मचल उठी लहरें मोहोबात की आज मेरे दिल मैं
तेरी यादों ने मेरा पल पल आज है समां महकाया

बेचैन बेक़रारी ऐसी बाद गयी तेरी यादों से आज
सोच के तुम्हे सनम है दिल को मैंने आज बहलाया

हर वक़्त इस देवानी को रहता है देदार आपका सनाम
क्यूँ संगदिल सनाम ऐसे आपनी देवानी को तद्पाया

16 comments:

Hema Nimbekar said...

कैसे बयां करू तेरी आँखों ने कैसे दिल को लुभाया
प्यार भरी तेरी नजरूं ने आज मुझे बोहोत तद्पाया

wah!! wah!!...behtareen abhivaykti...

kirpya mujhe bhi padhe..

stories/kahaiyain
http://nimhem.blogspot.com/p/part-1.html

kavita/Poems>>
http://nimhem.blogspot.com/p/poems-links-list.html

shero-shayeri
http://nimhem.blogspot.com/p/shero-shayeri.html

Babli said...

बहुत सुन्दर ! उम्दा प्रस्तुती!

आपको और आपके परिवार को होली की हार्दिक शुभकामनायें!

राज भाटिय़ा said...

होली की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ!

जी.के. अवधिया said...

भजन करो भोजन करो गाओ ताल तरंग।
मन मेरो लागे रहे सब ब्लोगर के संग॥


होलिका (अपने अंतर के कलुष) के दहन और वसन्तोसव पर्व की शुभकामनाएँ!

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...

होली के पर्व की अशेष मंगल कामनाएं। ईश्वर से यही कामना है कि यह पर्व आपके मन के अवगुणों को जला कर भस्म कर जाए और आपके जीवन में खुशियों के रंग बिखराए।
आइए इस शुभ अवसर पर वृक्षों को असामयिक मौत से बचाएं तथा अनजाने में होने वाले पाप से लोगों को अवगत कराएं।

Patali-The-Village said...

बहुत सुन्दर, उम्दा प्रस्तुती|
होली पर्व पर हार्दिक शुभकामनाएँ|

राजीव थेपड़ा said...

kuchh galtiyaa hain....akharne vaali...thoda unhen sudhaaren....aur acchhi ban jaayengi cheezen.....!!

डॉ टी एस दराल said...

बहुत सुन्दर मोहब्बत भरी ग़ज़ल ।
होली की हार्दिक शुभकामनायें ।

कविता रावत said...

बहुत सुन्दर होली प्रस्तुति
आपको सपरिवार होली की हार्दिक शुभकामनाएं

arti jha said...

aapne badi changi likhi ji...holi mubarka...

Sawai SIingh Rajpurohit said...

रंग के त्यौहार में
सभी रंगों की हो भरमार
ढेर सारी खुशियों से भरा हो आपका संसार
यही दुआ है हमारी भगवान से हर बार।

आपको और आपके परिवार को होली की खुब सारी शुभकामनाये इसी दुआ के साथ आपके व आपके परिवार के साथ सभी के लिए सुखदायक, मंगलकारी व आन्नददायक हो। आपकी सारी इच्छाएं पूर्ण हो व सपनों को साकार करें। आप जिस भी क्षेत्र में कदम बढ़ाएं, सफलता आपके कदम चूम......

होली की खुब सारी शुभकामनाये........

सुगना फाऊंडेशन-मेघ्लासिया जोधपुर,"एक्टिवे लाइफ"और"आज का आगरा" बलोग की ओर से होली की खुब सारी हार्दिक शुभकामनाएँ..

आशा said...

पहली बार आपके ब्लॉग पर आई हूँ |कविता बहुत अच्छी लगी |बधाई
आशा

Dorothy said...

खूबसूरत अभिव्यक्ति. आभार.
आपको सपरिवार होली की हार्दिक शुभकामनाएं.
सादर,
डोरोथी.

मुसाफिर क्या बेईमान said...

"यकीन को हो गया यकीन" बहुत ही सारथक शब्दों का उत्तम प्रयोग किया है आपने. जिन्दगी का प्राय्वाची ही यकीन है.
सुन्दर प्रस्तुति.

pragya said...

बहुत ही प्यारी रचना है मनप्रीत जी...ख़ुदा करे आप यूँ ही हर सुबह मुस्कुराती रहें...

AJMANI61181 said...

manpreet ji agar aap kahengi to mai sudhaar du

प्यार भरी तेरी नजरूं ने आज मुझे बोहोत तद्पाया


तान बदन

मोहोबात

बाद बेचैन बेक़रारी ऐसी बाद गयी तेरी यादों से आज

देवानी देदार
हर वक़्त इस देवानी को रहता है देदार आपका सनाम

सनाम

देवानी को तद्पाया

Post a Comment